निर्विवादित गुप्ता जी की हुई गैल,क्या ग्रुप बंदी पर लगेगी लगाम

दो लाख रुपये के शुरुआती वेतन के साथ संदीप गुप्ता जी को ग़ैल के नए CMD के रूप में नियुक्त कर लिया गया, आदेश जारी हो गया अब चार्ज कब लेते हैं ये देखना होगा। गुप्ता जी को ग़ैल का चार्ज उस समय में मिला है जब पूरी दुनियाँ में गैस के दामों को ले कर हा हा कार मचा हुआ है , देखना ये भी होगा कि ग़ैल में उनके आने के बाद ग्रूप बाज़ी पर लगाम लगेगी या ग्रुप बाज़ी को और बदावा मिलेगा ? वैसे तो गुप्ता जी अकाउंट के महारथी हैं उनको अच्छी तरह से पता है किस हेड में किसको डालना है, उम्मीद है कि ग़ैल में सीएमडी की कुर्सी सँभालने के बाद बहुत कुछ बदलाव आयें जिन तजुर्बें वालों ED के साथ ना इंसाफ़ी हो रही है उनको गुप्ता जी के आने के बाद इंसाफ़ मिल सके और जो ED गेल की चाइल्ड कंपनी में MD के पद पर रह कर सिर्फ़ अपना समय पास कर रहे हैं उनको शायद अब काम करना पड़ें।

ये भी देखना होगा कि उनके आने के बाद प्राइवेट गैस प्लेयर और गेल में किस तरह का मामला रहता है, क्योंकि पिछले दिनों गेल के  एक होनहार ED को अपना MD पद महज़ इसलिए गँवाना पड़ा था क्योंकि एक प्राइवेट कंपनी द्वारा गेल के आधिकारिक इलाक़े में अपनी कंपनी के डिस्ट्रीब्यूशन के लिए पाइपलाइन बिछाने से रोक दिया था, जिसकी वजह से रातों रात उस अधिकारी का ट्रांसफ़र कर दिया गया हमारे सूत्रों ने बताया कि प्राइवेट कंपनी ने अपनी ऊँची पहुँच के चलते उस अधिकारी को ट्रांसफ़र करने का दबाव बड़े बाबू से बनवाया था।

इस सवाल का जवाब हमने ग़ैल में एक बड़े बाबू की सिफ़ारिश पर नियुक्त गेल के पूर्व सीएमडी से भी किया था पर कोई जवाब नहीं आया, अफ़सोस तो तब हुआ जब हमारे सवालों के जवाब से बचते हुए पूर्व सीएमडी ने उस अधिकारी को ही तलब कर लिया और कहा ये सब क्या है ? मीडिया में ये खबर कैसे आई ?—To be continue in next story……..

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

error: Content is protected !!