Take a fresh look at your lifestyle.

अच्छी पर्यावरण नीतियां राजनीति को स्वच्छ करती है -केजरीवाल

दिल्ली के मुख्यमंत्री श्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को वायु प्रदूषण से निपटने के समाधान पर डेनमार्क के कोपनहेगन में आयोजित C 40 जलवायु परिवर्तन शिखर सम्मेलन को संबोधित किया। उन्होंने पेरिस के मेयर एनी हिडाल्गो, लॉस एंजेल्स के मेयर एरिक गार्सेटी, कोपेनहेगन के लॉर्ड मेयर जेन्सन, बार्सिलोना के मेयर एडा कोलाउ और पोर्टलैंड टेड व्हीलर के मेयर के साथ क्लीन एयर डिक्लरेशन की घोषणा की। प्रेस कांफ्रेंस में शामिल होने के लिए अरविंद केजरीवाल को कोपनहेगा जाना था। उन्हें विदेश मंत्रालय से अनुमति नहीं मिली। इस कारण उन्होंने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित किया। शिखर सम्मेलन के सत्र स्वच्छ हवा के लिए शहर के समाधान सत्र के दौरान मुख्यमंत्री ने पिछले चार साल में वायु प्रदूषण कम करने के लिए उठाए गए महत्वपूर्ण कदम की जानकारी दुनिया को दी। साथ ही इसमें जनता की तरफ से मिले सहयोग को विस्तार से बताया। उन्होंने दिल्ली में भविष्य में वायु प्रदूषण कम करने के लिए उठाए जाने वाले निर्णय की जानकारी भी दी।
श्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मैं कोपनहेगन आना चाहता था लेकिन किसी कारण से नहीं आ सका। मुझे बेहद खुशी है कि सी 40 की तरफ से क्लीन एयर सिटी के तौर पर जिन 35 शहरों को चुना गया, उसमें दिल्ली भी शामिल है। मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि पिछले चार साल में दिल्ली में प्रदूषण कम करने के लिए कई कदम उठाया गया। जिसका नतीजा है कि आज दिल्ली में 25 प्रतिशत प्रदूषण कम हो गया। इससे पहले दिल्ली प्रदूषण से लड़ रहा था। इसके लिए हमने आँड इवन लागू किया। जिससे सड़कों से आधा वाहन कम हो गए। डीजल वाहन पर कई रोेक लगाए। थर्मल और कोल आधारित पावर प्लांट को बंद कराया। इंडस्ट्री को सीएनजी आधारित किया गया। इसके लिए उन्हें मुआवजा दिया। जिससे औद्योगिक प्रदूषण में कमी आई। पहले दिल्ली में पावर कट होता था। दो साल में बिजली व्यवस्था को दुरूस्त किया गया। जिससे 24 घंटे और बगैर कट के बिजली मिलनी शुरू हुई। जिससे आधा मिलियन जनरेटर सेट बंद हुए। इससे प्रदूषण कम करने में मदद मिली।
दिल्ली में बढ़ाया हरियाला का दायरा
सीएम ने कहा कि दिल्ली में बड़े पैमाने पर हरियाली का दायरा बढ़ाया गया। वायु क्वालिटी मापने के लिए कई जगह मानिटर लगाए। इनसब से अलावा हमारे हर निर्णय में दिल्ली की 2 करोड़ जनता का भरपूर साथ मिला। कई सख्त निर्णय भी लिए गए लेकिन लोगों ने पूरा साथ दिया।  मेरा मानना है कि कोई भी क्लाइमेट चेंज जनता के सहयोग बगैर संभव नहीं है। मैं क्लीन सिटी डिक्लरेशन आज इस कारण साइन कर पा रहा हूं क्योंकि दो करोड़ जनता का मुझे साथ है। मैं पूरे दावे से कह रहा हूं कि कोई भी क्लाइमेट चेंज बगैर जनता के पूर्ण सहयोग के संभव नहीं है।
स्पेशल टास्क फोर्स बनेगा
मुख्यमंत्री ने कहा है दिल्ली के प्रदूषण को कम करने के लिए आगे भी काम करेंगे। दिल्ली में टास्क फोर्स का गठन होगा। जिसका हेड मुख्यमंत्री के तौर पर मैं हूंगा। इसमें मंत्री व अधिकारी व विशेषज्ञ होंगे। यह टास्क फोर्स सी 40 के डिक्लरेशन को लागू करेगी। जिससे दिल्ली के वायु प्रदूषण को कम करने में मदद मिलेगी। इसके अलावा हम परिवहन क्षेत्र में बड़ा बदलाव करने जा रहे हैं। इसे पर्यावरण के हिसाब से बनाया जाएगा। दिल्ली में 1 हजार इलेक्ट्रिक बसें आ रही हैं। जिससे प्रदूषण में कमी लाने में मदद मिलेगी। साथ ही इसके बाद अन्य वाहनों को भी इलेक्ट्रिक में बदला जाएगा।  खुले स्थानों पर डस्ट दिल्ली की बड़ी समस्या है। इसे खत्म करने के लिए हमलोग हरियाला का दायरा बढ़ाने जा रहे हैं। मैकेनिकल स्विपिंग को भी लागू किया जाएगा। जिससे डस्ट और प्रदूषण को रोकने में मदद मिलेगी।  मैं दुनिया को भरोसा दिलाना चाहता हूं कि आने वाले समय में दिल्ली के वायु प्रदूषण को और कम किया जाएगा। यहां के लोग पूरी तरह से तैयार हैं। दिल्ली में सी 40 के डिक्लरेशन को पूरी तरह से लागू किया जाएगा। जिससे दिल्ली की हवा आने वाले समय में और साफ होगी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!