Take a fresh look at your lifestyle.

दिलशाद कालोनी में ठेके का विरोध, पीने वालों ने कहा स्वागतम

पूर्वी दिल्ली : दिलशाद कालोनी के डी ब्लॉक में बेस्मेंट में नए शराब के ठेके के खुलने का विरोध हो रहा है, नागरिकों का कहना है की इससे हमारे बच्चों और महिलाओं पर बुरा असर पड़ेगा, हम नही चाहते कि एक अच्छी कालोनी बुरी शक्ल अखत्यार कर ले, हमने पहले भी यहाँ खुले ठेके का विरोध किया था जिसको बाद में बंद कर दिया गया, डॉक्टरस के एक ग्रूप का कहना है कि हम इस सम्बंध में सीमापुरी SDM से मिले हैं उन्होंने हमें पूरा भरोसा दिलाया है कि अगर यहाँ के नागरिक नही चाहते कि  यहाँ ठेका ना खुले तो नही खुलेगा हम इस बात पर हम पूरा ध्यान देंगे।
इस समबंध में जब कालोनी के विधायक और दिल्ली सरकार के मंत्री की राय जानने के लिए उनको कॉल किया गया तो मंत्री जी उपलब्ध नही हो पाए मोबाइल पर सम्पर्क नही हो पाया, वहीं इस बारे में  RWA के सदर ज़नाब त्यागी जी से पूछा गया कि नागरिकों कि इस समस्या और यहाँ खुलने वाले शराब के ठेके पर RWA  क्या राय है ? उन्होने बताया कि RWA  को इस बारे में  कालोनी के नागरिकों की तरफ़ से एक आवेदन मिला है जिसमें ठेके को ना खुलवाने  की बात कही गई है, अभी हम इस मामले में लोगों की राय ले रहे हैं अगर ज़्यादातर लोग ये चाहते हैं की ठेका ना खुले तो नही खुलेगा, पर ये लोगों के ऊपर निर्भर करता है अभी हम अपने कालोनी के लोगों के राय ले रहे हैं जो भी राय बहुमत से होगी हम उस पर विचार करेंगे, अगर ज़्यादातर लोग ये चाहते हैं कि ठेका ना खुले तो हम इस समबंध में समबंधित अधिकारी को भी लिखेंगे।
दूसरी तरफ़ शोक फ़रमाने वाले साहिबान में ठेके खुलने की खबर से ख़ुशी की लहर है, उनका मत है कि चलो किसी ने तो हमारा ख़याल रखा अब हमें दूर नही जाना पड़ेगा दूर जा कर लाइन में लगने और हिक़ारत भारी नज़रों से तो छुटकारा मिलेगा ।
अब देखना ये है कि ठेका खुलने और ना खुलने वाली जंग में कौन जीतता है खुलवाने वाले या बंद कराने वाले, वैसे तो सवाल कालोनी के बेस्मेंट पर भी है क्यूँकि नए नियमों के मुताबिक़ किसी भी तरह का कोई बेस्मेंट ना ही खुल सकता है और ना ही उसमें कोई कार्य करने की अनुमति दी जा सकती है ? पर हम सभी जानते हैं की पूरी कालोनी में बेस्मेंटों की कमी नही है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X