Take a fresh look at your lifestyle.

पंजाब में दशहरे पर नरेन्द्र मोदी, अंबानी और अडानी का पुतला जलाया जा रहा था-राहुल गांधी

बिहार में एक चुनावी रैली से ख़िताब करते हुए राहुल गांधी ने कहा , 6 साल पहले नरेन्द्र मोदी जी प्रधानमंत्री बने उन्होंने युवाओं से कहा था कि हर साल दो करोड़ युवाओं को रोजगार दिलवाएंगे। दे दिया? (युवाओं ने कहानहीं) मिला, (युवाओं ने फिर कहानहीं) कुछ नहीं। नीतीश जीने कहा थाबिहार को बदल देंगे। बदला?  नहीं बदला। अच्छा, मीटिंग में नीतीश जी जाते हैं, पिछले चुनाव में उन्होंने कहा था, रोजगार दूंगा। उनकी मीटिंग में आकर उनसे सवाल पूछते हैं, हमें रोजगार क्यों नहीं दिया? और नीतीश जी उनको धमकाते हैं, उनको भगाते हैं, उनको पिटवाते हैं।सच्चाई सामने आती है। चाहे व्यक्ति कितना भी झूठ बोलना चाहे। चाहे नरेन्द्र मोदी जी 24 घंटा देश से झूठ बोलें, नीतीश जी देश से झूठ बोलें, कहीं कहीं से सच्चाई आकर दिख जाती है।

8 बजे रात को कुछ साल पहले नरेन्द्र मोदी जी ने कहाकालेधन के खिलाफ लड़ाई है, 500 रुपए– 1,000 रुपए का नोट मैं रद्द कररहा हूँ।  बैंक के सामने खड़े थे आप,  पूरा हिंदुस्तान लाइन में खड़ा था। जब आपलाइन में खड़े थे, उस लाइन में कालेधन वाले खड़े थे क्या? कोई अरबपति खड़ा था  अंबानी, अडानी थे खड़े?  नहीं, वो बैंक के पीछे के दरवाजे से गए, हाँ, पीछे से गए और जो उन्होंने सैटिंग करनी थी, उन्होंने कर दी। आपकी जेब में से नरेन्द्र मोदी जी ने पैसा निकाला। बिल्कुल, आपसे कहाकालेधन के खिलाफ लड़ाई है, आपका पैसा बैंक में डलवा दिया और फिर 3 लाख 50 हजार करोड़ रुपए हिंदुस्तान के सबसे अमीर अरबपतियों का कर्जा माफ किया। आपसे कहा भईया, कालेधन की लड़ाई है, कालेधन से लड़ना है और अब पूरे देश को सच्चाई समझ गई, हमारा पैसा नरेन्द्र मोदी जी ने हमारी जेब से निकालकर अरबपतियों को पकड़ा दिया।

कुछ दिन पहले मैं पंजाब गया। पहली बार मैंने जिंदगी में देखा, दशहरे पर रावण को नहीं जलाया जा रहा था, कुंभकरण, मेघनाथको नहीं जलाया जा रहा था, दशहरे पर नरेन्द्र मोदी, अंबानी और अडानी का पुतला जलाया जा रहा था।  यहाँ पानी की कोई कमी नहीं है,  अच्छा धान का क्यारेट मिलता है ? ठीक है जो किसान की जेब में जाना चाहिए वो बिचौलिए लेकर हरियाणा और पंजाब में जाकर बेचते हैं, उनकी जेबमें जाता है। अब हरियाणापंजाब में गुस्सा है। हरियाणा पंजाब में नरेन्द्र मोदी जी के पुतले जला रहे हैं क्यों ? क्योंकि नरेन्द्र मोदी जीने नए बिचौलियों के लिए रास्ता साफ किया है। वो छोटे बिचौलिए नहीं, सबसे बड़े बिचौले, अंबानी और अडानी। क्यों, क्या कियाजो यहाँ पर 2006 में आपके साथ किया गया, मंडियों को खत्म किया गया, एमएसपी को नष्ट किया गया, खत्म किया गया, रद्द कियागया, वो अब नरेन्द्र मोदी जी पूरे देश में कर रहे हैं।

अगर नरेन्द्र मोदी जी के दिल में कुछ होता, किसानमजदूर के लिए जगह होती, तो जो कोरोना में हुआ, वो नरेन्द्र मोदी जीकभी नहीं करते। हिंदुस्तान का प्रधानमंत्री, अगर हिंदुस्तान के प्रधानमंत्री के दिल में मजदूर के लिए, किसान के लिए जगह होती तोवो मर जाता मगर जो नरेन्द्र मोदी जी ने किया, वो कभी नहीं करता और ये पूरा बिहार जानता है।

कोरोना आता है, नरेन्द्र मोदी जी कहते हैं, भाईयों और बहनों, 22 दिन की लड़ाई है, 22 दिन में कोरोना को हम मिटा देंगे। भाईयोंऔर बहनों, एक काम करो, थाली निकालो, थाली बजाओ, कोरोना भाग जाएगा। जब कोरोना नहीं भागा तो कहते हैं, भाईयों औरबहनों, मोबाइल फोन निकालो, लाइट जलाओ। मतलब, वे सोचते हैं कि हिंदुस्तान की जनता में कोई भी अक़्ल नहीं है, कोई भीसमझ नहीं है। 24 घंटे जो बोलना चाहते हैं, बोलते हैं। और क्या किया नरेन्द्र मोदी जी ने, बिना कोई वार्निंग, बिना कोई नोटिस लॉकडाउन कर दिया, बिना किसी को बताए। जैसे नोटबंदी की, वैसे लॉकडाउन किया औऱ जो बिहार के मजदूर थे, गरीब मजदूर, कोई पंजाब में, कोई हरियाणा में, कोई महाराष्ट्र में, कोई बैंगलोर में, उन सबको पैदल, भूखेप्यासे हजारों किलोमीटर यहाँ वापसआना पड़ा। क्या जिस प्रधानमंत्री ने बिहार के मजदूरों के साथ ये किया, क्या उसके दिल में मजदूरों के लिए इतनी सी भी जगह है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!