Take a fresh look at your lifestyle.

भारत अंतर्राष्ट्रीय क्विल्ट महोत्सव 2021 दुनिया भर के घरों में डिजिटल रूप में जाएगा

(पारुल शर्मा) नई दिल्ली : क्विल्ट महोत्सव 2019 – भारत का पहला क्विल्ट महोत्सव जनवरी 2019 में आयोजित किया गया था और इसे विश्व स्तर पर जबरदस्त प्रोत्साहन मिला। 2021में दूसरा संस्करण आयोजित करने का वादा किया गया था। लेकिन कोविद 19 महामारी के साथ, कई घटनाओं के कारण कार्यक्रम आयोजकों को दुबारा सोचना पडा । लेकिन तीन निडर क्विल्टर्स अपने वादे पर अडे रहे, वादे को निभाने का फैसला किया और भारत अंतर्राष्ट्रीय क्विल्ट महोत्सव 2021 दुनिया भर के घरों में डिजिटल रूप में जायेगा। क्विल्ट इंडिया फाउंडेशन की टीना कटवाल (जिन्होंने “द स्क्वायर इन्च ” नामक भारत का पहला क्विल्टिंग स्टूडियो शुरू किया), दीपा वासुदेवन और वर्षा सुंदरराजन वर्चुअल संस्करण की सफलता के प्रति आश्वस्त हैं और सभी बड़े दर्शकों से भागीदारी की अपेक्षा करते हैं |

इस इन्टरनेट महोत्सव में प्रतियोगितायें प्रदर्षनियां कर्यशालायें और महोत्सव सूची और एक बिक्री केन्द्र शामिल है।

प्रतियोगिता के कुछ मनोरञ्जक अन्श :

– फ्लोरल रैप्सोडी: प्रतियोगिता की थीम क्विल्ट्स श्रेणी फ्लोरल रैप्सोडी – पुष्प रचना- यह व्याख्या और इसके निष्पादन के लिए एक व्यापक योजना प्रदान करता है।

– जन नेक्स्ट – 18 साल से कम उम्र के कलाकार के लिए एक नई श्रेणी बनाई गई है, क्योंकि आयोजकों को लगता है कि किसी भी कला परंपरा को बनाए रखने और जीवित रखने के लिए, युवाओं को शामिल करना और उत्साहित करना आवश्यक है

– भारतीय क्विल्ट श्रेणी – क्विल्ट जो भारत की समृद्ध कपड़ा परंपरा और इसकी विभिन्न गोधडी शैलियों को दर्शाती है। प्रतियोगियों को भारत की भावना दिखाने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है और वे किसी भी शैली और रूप को चुन सकते हैं | टीना कटवाल के अनुसार, “भारत में क्विल्ट / गोदडी / रजाई/ पलंगपोश बनाने की सबसे पुरानी परंपरा है। पुराने और फटे कपड़ों का पुनर्चक्रण, उत्थान और पुनरुत्पादन सदियों से देश में जीवन का एक तरीका रहा है। जब रंग और रूपांकनों का उपयोग करने की बात आती है, तो रजाई अलग-अलग क्षेत्रों में भिन्न हो सकती है, फिर भी मजबूत धागे हैं जो उन्हें तकनीकों और डिजाइनों के संदर्भ में एक साथ बांधते हैं। संस्कृत में कांथा का अर्थ चिथडे होता है | पुराने तुकडों को जोडकर, सिलायी से उसे मन चाहा रूप देकर प्रस्तुत करना बङ्गाल की परम्परा है | इस प्रकार उन चिथडों का पुनः उपयोग किया जा सकता है जो परंपरागत है।

जनवरी में संगीत नाटक और नृत्य का चेन्नै मे जो वार्षिक महोत्सव होता है , उसके साथ इंडिया इंटरनेशनल क्विल्ट फेस्टिवल को भी जोडकर स्थायी हिस्सा बनाने का प्रयास है |
दीपा वासुदेवन का कहना है कि इस साल विशेष कारणों के लिए, संशोधन करना पड़ा। “हम भौगोलिक प्रतिबंधों से पीछे नहीं रहेंगे और यह सुनिश्चित करेंगे कि त्योहार को दुनिया के सभी देशों के घरों में ले जायेंगे । पहले संस्करण में भारी भागीदारी थी और हम दूसरे संस्करण में व्यापक पहुंच के लिए तत्पर हैं। ”
वर्षा सुंदरराजन कहती हैं, “भारत क्विल्ट महोत्सव के पहले संस्करण ने प्रदर्शित किया कि भारत में क्विल्ट / गोदडी / रजाई/ पलंगपोश बनाना जो घरेलु शौक था, धीरे धीरे घरेलु उद्योग बनकर, आज अन्तर राष्ट्रीय स्तर पर पहुंच गया है | पुरानी दस्तकारी आगे बडकर कला के रूप में विकसित हुयी। तीन तहोन के कपडो पर कलाकार की भावना विकसित होकर दर्शकों के मन को छू लेती है | अंतिम परिणाम, जैसे कि सच्ची कला, व्याख्यात्मक है और भावनात्मक प्रभाव रखती है। ”
क्विल्टिंग के असाधारण कार्यों को उत्पन्न करने की रोमांचक संभावनाओं के अलावा, इंडिया इंटरनेशनल क्विल्ट फेस्टिवल में कलाकार और कला के पारखी लोगों को एक मजबूत मंच प्रदान करने का गंभीर उद्देश्य है। पहले संस्करण में 11 देशों का प्रतिनिधित्व करने वाले 161 कलाकारों से 290 प्रतियोगिता प्रविष्टियाँ प्राप्त हुयी। IQF 2019 की चुनी हुई पुरस्कृत गोधडीयां जयपुर, नई दिल्ली, कोलकाता और कोयम्बटूर के मशहूर कला दीर्घाओं मे “थ्रेड्स दाट बैन्ड” – धागे जो जोडते हैं – नाम प्रदर्शनी के माध्यम से प्रदर्शित किया गया ।
संस्थापक चाहते हैं कि यह त्योहार देश में क्विल्ट / गोदडी / रजाई/ पलंगपोश बनाने की कला को पुनर्जीवित करे | यहां गोदडी के लिए एक सामान्य मंच प्रदान करें और भारतीय क्विल्ट / गोदडी / रजाई/ पलंगपोश परंपराओं को दुनिया भर में ले जाएं। व्यवहार्य वाणिज्यिक खोज के रूप में गोदडी को बढ़ावा देने के लिए भी है। टीना कटवाल महोत्सव की क्षमता का सारांश प्रस्तुत करती हैं। वह कहती हैं, “इस आयोजन के माध्यम से, हम स्वदेशी तकनीकों को संरक्षित कर सकते हैं जो अन्यथा फीका पड़ जाएगा, जो कलाकार अभी भी सुंदर क्विल्ट/ गोधडी / रजाई बना रहे हैं, महिलाओं द्वारा मुख्य रूप से घर-आधारित व्यवसाय चलाने के लिए उद्यमी अवसर प्रदान करते हैं, और अधिक से अधिक लोगों को इसे खरीदने के लिए प्रोत्साहित करते हैं ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!