Take a fresh look at your lifestyle.

लोकतंत्र की रक्षा के लिए जेपी ने संपूर्ण क्रांति का आह्वान किया था-जगत प्रकाश नड्डा

भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री जगत प्रकाश नड्डा ने  रविवार को जेपी आवास, कदमकुआं (पटना) में श्रद्धेय जय प्रकाश नारायण जीकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। उनके साथ बिहार के उप-मुख्यमंत्री श्री सुशील मोदी, बिहार के स्वास्थ्य मंत्री श्री मंगल पांडेय और भारतीय जनतापार्टी के राष्ट्रीय मीडिया सह – प्रभारी एवं राष्ट्रीय प्रवक्ता डॉ संजय मयूख भी उपस्थित थे। श्री नड्डा ने कहा कि आज संपूर्ण क्रांति के सूत्रधार और देश में लोकतंत्र को नया जीवन देने वाले श्रद्धेय जय प्रकाश नारायण जी एवं सेवा औरसंघर्ष के आदर्श श्रद्धेय नानाजी देशमुख जी की जन्मजयंती है। आज लोकनायक जय प्रकाश नारायण जी के जन्मदिन के अवसर पर उनके आवासपर आने का मौका मिला और मुझे अपने युवा काल के दिन याद आ गए जब लोकतंत्र की रक्षा के लिए जेपी ने संपूर्ण क्रांति का आह्वान किया था।इस आंदोलन का उद्गम स्थान कदमकुआं का उनका निवास स्थान ही था। उस वक्त हमारा काम पुलिस से बचते हुए छात्रों के हित में आवाज बुलंदकरना होता था। जब जयप्रकाश नारायण जी को गिरफ्तार कर लिया गया था तो हम यहीं आया करते थे और प्रेरणा लिया करते थे। उस वक्तदेश में शिक्षा में परिवर्तन के लिए विद्यार्थी परिषद की तरफ से यात्रा की शुरुआत पूज्य जयप्रकाश नारायण जी ने ही की थी। 1973 से लेकर1977 तक भारत की राजनीति में कांग्रेस के भष्ट्राचार को जनता के बीच उजागर करने का काम श्रद्धेय जय प्रकाश नारायण जी ने किया। प्रजातंत्र कीरक्षा के लिए उन्होंने अपना सर्वोच्च बलिदान दिया। 1975 में कांग्रेस द्वारा देश पर थोपे गए आपातकाल के दौरान जयप्रकाश नारायण जी के साथकाफी अत्याचार किया गया लेकिन वे सच्चाई से कभी पीछे नहीं हटे और देश के लिए, लोकतंत्र की रक्षा के लिए लड़ाई हमेशा जारी रखी।जिन लोगों ने कांग्रेस द्वारा लोकतंत्र की हत्या कर देश पर थोपे गए आपातकाल के विरोध में आंदोलन किया, नागरिकों के अधिकारों की रक्षाके लिए आवाज बुलंद की, आज उनमें से ही कुछ लोग उसी कांग्रेस के साथ स्वार्थी गठबंधन कर चुनाव लड़ रहे हैं, यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्णहै। श्रद्धेय जयप्रकाश नारायण जी ने अपना संपूर्ण जीवन समाज के लिए जिया और वे न तो कभी सत्ता के आगे झुके, न सत्ता के लिए झुकेऔर न ही सत्ता से झुके। समाज के कल्याण और राष्ट्र के उत्थान के लिए जो रास्ता लोकनायक जय प्रकाश नारायण जी ने दिखाया था, उसे देशके यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में भारत सरकार बखूबी अपना रही है।

जय प्रकाश नारायण जी ने भारत के काले अध्याय ‘आपातकाल’ में लोकतंत्र की रक्षा के लिए संपूर्णक्रांति का आह्वान किया। तख़्त गिर रहे थे, ताज उछल रहे थे लेकिन जेपी लोकतंत्र के लिए संघर्ष कर रहे थे। उनका समस्त जीवन संघर्ष वसाधना से परिपूर्ण रहा। उनकी जयंती पर मैं उन्हें भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ। उन्होंने कहा कि जेपी आंदोलन से निकले हुए अनेक राजनेताओंने भारतीय राजनीति का नेतृत्व कर देश को एक नई दिशा दी। जेपी के बताए मूल्यों और दिशा-निर्देशों पर आगे बढ़कर बेहतर समाज की रचना करनाहमारा संकल्प है। मैं भाग्यशाली हूँ कि आज उनकी जयंती पर मुझे पटना में उनके घर जाने का सौभाग्य हासिल हो रहा है। भारत रत्न से सम्मानितजयप्रकाश नारायण जी ने अपने उत्कृष्ट विचारों तथा दर्शन से देश को नई दिशा देने का कार्य किया। ऐसे सर्वोदयी विचारक व मानवतावादी चिंतककी जयंती पर उन्हें कोटि-कोटि नमन। यह मेरा सौभाग्य है कि छात्र जीवन में ऐसे विराट व्यक्तित्व का सान्निध्य मुझे प्राप्त हुआ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!