Take a fresh look at your lifestyle.

आजाद हुए 73 साल हो गये ,गरीब जनता पहले से भी अधिक गरीब हुई है,लुटेरे और अधिक मजबूत हो गये हैं-सपा

कोरोना महामारी के कारण समाजवादी पार्टी दिल्ली प्रदेश ने अपने वरिष्ठ नेता और पार्टी के संस्थापक मुलायम सिंह यादव जी का 82वां जन्मदिन सादगी के साथ मनाया। इस अवसर पर जंतर-मंतर पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम में सपा दिल्ली प्रदेश की पूर्व अध्यक्ष उषा यादव और पूर्व प्रमुख महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता आर.एस. यादव सहित कई कार्यकर्ताओं ने मुलायम सिंह यादव के स्वस्थ एवं लंबी उम्र की कामना की और उनके दिखाये रास्ते पर चलकर दिल्ली तथा उत्तर प्रदेश में पार्टी को सत्ता में लाने का संकल्प लिया।
कार्यकर्ताओं दिये गये अपने संदेश में उषा यादव ने कहा कि हम दिल्ली समाजवादी पार्टी के लोग आज जंतर-मंतर पर अपने प्रिय नेता धरतीपुत्र मुलायम सिंह यादवजी का 82वां जन्म दिन मनाने के लिये इकट्ठा हुए हैं। आज का दिन उन ताकतों के खिलाफ संघर्ष को तेज करने के लिये संकल्प लेने का दिन है जो समाज को साम्प्रदायिकता, जाति और धर्म के आधार पर बांटकर पूंजीपतियों और उच्च वर्ग के लोगों के साथ गठजोड़ करके दिल्ली प्रदेश और देश की सत्ता पर काबिज हैं।
आर. एस. यादव ने कहा कि आजादी के पहले और उसके बाद से ही समाजवादी विचारधारा के लोग उन 5 फीसदी ताकतों के साथ संघर्ष कर रहे हैं, जो एक साजिश के तहत अपने स्वार्थ के लिये देश की 95 फीसदी आबादी का शोषण कर रही हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली की आबादी का बड़ा हिस्सा अभी भी नारकीय जीवन जीने को अभिशप्त है। इसके पीछे यही ताकतें जिम्मेददार हैं। आज पूरी दिल्ली कोरोना महामारी की तीसरी लहर झेल रही है। ऊपर से प्रदूषण की मार। बुजुर्ग और बच्चे इसकी वजह से बेमौत मरने को मजबूर हैं। इस दयनीय स्थिति के लिये सत्ता में बैठे आम आदमी पार्टी और भाजपा के लोग सीधे-सीधे जिम्मेदार हैं।  देश को आजाद हुए 73 साल हो गये। नेताजी की भविष्यवाणी बिलकुल सही साबित हो रही है। पहले जो लुटेरे थे वे आज और अधिक मजबूत हो गये हैं। गरीब जनता पहले से भी अधिक गरीब हुई है। लुटेरों के लिये देश में कोई नियम-कानून नहीं है। ये पैसा लूटकर बड़ी आसानी से विदेश में भी बस जाते हैं। वहीं, गरीब जनता अपने देश ही तिल-तिल मरने को मजबूर है। गरीब कर्ज नहीं दे पाता है तो उसके जमीन-जायदाद की कुर्की की जाती है, लेकिन अमीर का कर्ज सरकार माफ कर देती है।  क्योंकि धनपशुओं के पैसे से राजनीति करने वाली ताकतें आज दिल्ली और देश के शासनतंत्र पर काबिज हैं। मेरा सीधा-सीधा आरोप है कि आम आदमी पार्टी और भाजपा के लोग आपस में मिले हुए हैं। ये दोनों दल जनता को भ्रमित करने के लिये आपस में नूराकुश्ती कर रहे हैं। मैं इस आरोप को तथ्यों के साबित कर सकता हूं। आम आदमी पार्टी मुफ्त बिजली-पानी का ढोल पीट रही है, लेकिन फेस मास्क नहीं लगाने के नाम पर आम आदमी से ही 2 हजार रुपये की वसूली में जुटी हुई है। केवल 200 यूनिट मुफ्त बिजली का झुनझुना थमाकर मध्यम वर्ग को भारी-भरकम बिल भेजा जा रहा है। चार साल पहले जिनके बिजली का बिल 5 हजार रुपये आता था, अब उनका बिल 25 हजार हो गया है। अगर बिजली मुफ्त है तो बिजली कंपनियों को 16 प्रतिशत मुनाफा कैसे हो रहा है। जाहिर है मुफ्त की आड़ में सत्ताधारी-कारपोरेट तंत्र आम आदमी को दोनों हाथों से लूट रहा है।
समाजवादवादी पार्टी गांव गरीब किसान नौजवान महिला और दबे कुचले मजलूमों की लड़ाई को तेज करेगी। ईमानदार को गरीब बनाने वाली इन ताकतों पर हम सब मिलकर जोरदार प्रहार करेंगे। इनको सत्ता से बाहर करके ही समाज में पैदा हुए आज के संकट का समाधान निकाला जा सकता है। ये लोग तानाशाह हैं। इनको मजलूमों के कष्ट से कोई लेना-देना नहीं है। हमारे नेताजी अखाड़े के पहलवान रह चुके हैं। अखाड़ों से सीखे गये दांव-पेंच का उन्होंने राजनीति में बखूबी इस्तेमाल किया है। उन्होंने जमीन से जुड़कर राजनीति की है। डाॅ. राममनोहर लोहिया, राजनारायण, चैधरी चरण सिंह जैसे नेताओं की विचारधारा को अपनाकर उन्होंने समाजवाद के संघर्ष का परचम नई ऊंचाई पर फहराया है। हम इसे और आगे ले जाने के लिये दृढ़ संकल्पित हैं। हम सैकड़ा में 95 बनाम 5 की लड़ाई को अंजाम तक पहुचाकर ही दम लेंगे। पांच फीसदी लोग 95 को गरीब बनाकर नहीं रख सकते हैं। हम नेताजी के सपनों को साकार करने के लिये दिल्ली और उत्तर प्रदेश में अपने संघर्ष को सड़क पर उतारें और इन ताकतों को सत्ता से बाहर करने के लिये संकल्प लें। यही नेताजी माननीय मुलायम सिंह यादवजी को उनके जन्मदिन का सबसे बड़ा तोहफा होगा।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!