Take a fresh look at your lifestyle.

क़िस्सा कुर्सी का

SBI now Whatsapp_AW
NHPC_ADVT_LATEST_Artwork AD (New Logo) Hindi 042022
NHDC ADVT_rducesize
271 Hindi PNB ONE AD leaflet 05-01
Shadow
pnb_advt_oct_Whatsapp Banking 33x5cm-01
SBI now Whatsapp_AW
pnb_logo
pfc_strip_advt
nhpc_strip
scroling_strip
Shadow

पूरी दुनिया में जिस तरह से अपस्ट्रीम और डाउनस्ट्रीम के कार्य करने की प्रणाली में बदलाव आये हैं उनका असर भारत में देखने को मिला है देश की  नो 1 कही जाने वाली कंपनी ONGC ने भी दुनिया के इस चलन को देखते हुए अपने बिज़नेस स्ट्रक्चर में बदलाव के लिए 2012 में कुछ प्लानिंग की , उसके बाद 2014 में कुछ और बदलाव को जोड़ा गया और फिर सबसे आख़िरी बदलाव 2019 में किए गये , ये बदलाव कोई आम बदलाव नहीं थे बल्कि स्ट्रक्चर बदलाव थे ।

सूत्र ये बताते हैं इन स्ट्रक्चर बदलाव में कंपनी के अपस्ट्रीम डाउनस्ट्रीम के साथ साथ गैस और सोलर पैनल की प्लानिंग भी शामिल की गई थी, जिससे मिशन 2030 को हासिल किया जा सके जानकारों कि राय है कि ONGC में इन बदलाव की दरकार थी,अगर ऐसा ना किया जाता तो ONGC पर इसके बुरे असरात सामने आते। ओएनजीसी ने वक़्त वक़्त पर अपने स्ट्रक्चर में बदलाव करके अपनी कार्यकुशलता में तो निपुणता हासिल कर ली पर ओएनजीसी अपने सीएमडी के ओहदे की निपुणता में फेल हो गई ? एक दौर ऐसा भी आया जब ऐसा लगा कि ये कंपनी अब बीमार कंपनी की शक्ल अख़्तियार कर लेगी पर शुक्र है आज कि ओएनजीसी पहले के  हालातों से कहीं बहतर है।
ONGC के CMD ओहदे की नियुक्ति से इन बदलाव का बहुत अहम रोल है ,जानकार ये बताते हैं कि ONGC के सीएमडी पद के लिए ऐसे उम्मीदवार की ज़रूरत है जो इन सभी बदलाव से वाक़िफ़ हो या इनकी प्लानिंग में शामिल रहा हो और प्लानिंग का हिस्सेदार रहा हो , हाँ अगर सिर्फ़ जी हुज़ूरी करनी है तो फिर कोई भी चलेगा , पर अगर देश की नो 1 कंपनी को वर्ल्ड लेबल के मुक़ाबले की बनाना है तो फिर ऐसे उम्मीदवार को चुनना होगा जो ओएनजीसी के इन सभी बदले हुए स्ट्रक्चर की प्लानिंग का हिस्सा रहा हो । पर दिक़्क़त सिर्फ़ इतनी भर नहीं है दिक़्क़त ये भी है कि ONGC के CMD के पद के लिए PSEB अपना पल्ला ये कह कर झाड़ चुकी है कि इस पद के लिये सर्च कमेटी ही काबिल उम्मीदवार का चुनाव करेगी, “आसमान से गिरे तो खुज़ूर में अटके ” अब सर्च कमेटी पर नज़र डाल लेते हैं जो सर्च कमेटी बनाई गई है उसमे तीन सदस्य हैं। 1-PSEB की चेयरमैन मोहतरमा मल्लिका श्रीनिवासन- 2-पेट्रोलियम सचिव ज़नाब पंकज जैन और इण्डियन आयल में ED से सीधे चेयरमैन के पद पर जम्प मारने वाले डाउनस्ट्रीम के मास्टर श्रीमान B अशोक जी, प्रशासनिक,कारोबारिक और डाउनस्ट्रीम के संगम से बनी इस टीम को एक अपस्ट्रीम कंपनी के CMD का चुनाव करना है, कैसे मसला हल हो इधर कुँआ उधर खाई ? ONGC के अंदर से किसी को लिए जाये या बाहर वाले को मौक़ा दिया जाये ? सवाल बड़ा है पर कहते हैं ना जब उलझेगी तभी सुलझेगी, सर्च कमेटी ने नो उम्मीदवारों के नाम परवाना  जारी किया जिनका इंतख़ाब 27 अगस्त को मंत्रालय के कॉन्फ़्रेंस रूम में हुआ।
आइये अब बुलाये गये काबिल उम्मीदवारों पर एक नज़रें शानी करते हैं, हमारे सूत्र ये बता रहे हैं 2012 जब से ओएनजीसी के स्ट्रक्चर के बदलाव की प्लानिंग शुरू हुई थी उस में  से केवल दो नाम सामने आ रहे हैं जो इस बदलाव की प्लानिंग में पूरी तरह से शामिल थे ,एक नाम है पंकज कुमार (डायरेक्टर ऑफशोर) दूसरा नाम है राजेश कुमार (डायरेटर एक्सप्लोरेशन) पंकज कुमार 2024 में सेवानिव्रत होने वाले हैं जबकि श्रीवास्तव जी के पास अभी तीन साल का समय है , पर इनके अलावा एक और उम्मीदवार का नाम सुर्ख़ियों में हैं वो नाम है EIL की CMD वर्तिका शुक्ला का जानकारो के मुताबिक़ EIL की ख़स्ता हालत को सुधारने में वर्तिका शुक्ला ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है टेकीनल बैकग्राउंड से हैं जिसका फ़ायदा ONGC को हो सकता है , नितिन कुमार बिरला जिनको अपस्ट्रीम और एसेस्ट्स मैंगमेंट का माहिर बताया जा रहा है जो कुवैत गल्फ़ आयल से वास्ता रखते हैं के बारे में ऐसा कहा जा रहा है कि प्राइवेट और इण्डियन PSUS के कार्य करने के तरीक़े में ज़मीन और आसमान का फ़र्क़ होता है , AIR इंडिया की मिशाल हमारे सामने हैं , पर कुछ कहा नहीं जा सकता कुछ ऐसा ही परसेप्शन PSEB के चेयरमैन के बारे में भी बनाया गया था , बरूच मिश्रा ये भी एक उम्मीदवार हैं जो कि शैल इंडिया से ताल्लुक़ रखते हैं यहाँ फिर वही प्राइवेट का मसला आ जाता है , आईओसीएल के चेयरमैन एस एम वैध्या शायद प्राइवेट सेक्टर में जाने के इच्छुक हों शायद इसलिए हाज़िर ना हुए हों ? अरुण कुमार सिंह जो फ़िलहाल BPCL के CMD हैं और PNGRB में उनका सिलेक्शन हो चुका है , अलका मित्तल जो हाल ही में सेवानिव्रत होने वाली हैं उन्होंने भी अपने सर पर सजे ताज़ को और पहनना शायद मुनासिब ना समझा हो ?
अब देखना ये होगा कि ONGC के सीएमडी की कमांड जी हुज़ूरी वाले के हाथ में जाती है या फिर एक्सपर्ट्स के ?

Leave a Reply

x
error: www.newsip.in (C)Right , Contact Admin Editor Please
%d bloggers like this: