Take a fresh look at your lifestyle.

अपने भ्रष्टाचार की भूख मिटाने के भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम ने जमीन को भी बेचना शुरू कर दिया है-आप

एमसीडी में भाजपा का कार्यकाल अब एक-डेढ़ साल ही बचे हैं, इसलिए भाजपा के पार्षद और नेता एमसीडी को पूरी तरह से खत्म करने में लग गए हैं।

नई दिल्ली, आम आदमी पार्टी ने भारतीय जनता पार्टी शासित नार्थ एमसीडी द्वारा आर्गेनिक व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स नानीवाला बाग, आजादपुर के पास स्थित व्यावसायिक कॉम्प्लेक्स और नॉवेल्टी सिनेमा की बिल्डिंग व जमीन बेचने का प्रस्ताव लाने का कड़ा विरोध किया है। आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता एवं एमसीडी के प्रभारी दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा ने एमसीडी को लूट कर बर्बाद कर दिया है और अब वह दिल्ली की जमीनें बेचने का सिलसिला शुरू करने जा रही है। एमसीडी में भाजपा का कार्यकाल अब एक-डेढ़ साल ही बचे हैं, इसलिए भाजपा के पार्षद और नेता एमसीडी को पूरी तरह से खत्म करने में लग गए हैं। दुर्गेश पाठक ने कहा कि आम आदमी पार्टी भाजपा से इन प्रस्तावों को तत्काल वापस लेने की मांग करती है और स्थायी समिति की बैठक में इसका पूरी तरह से विरोध करेगी।

पार्टी मुख्यालय में हुई एक प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता दुर्गेश पाठक ने कहा कि सत्ता के अहंकार और भ्रष्टाचार में डूबी भारतीय जनता पार्टी अब इस कदर बेशर्म हो चुकी है, कि जमीन, जिसे भारत में मां का दर्जा दिया जाता है, अपने भ्रष्टाचार की भूख मिटाने के लिए अब भाजपा शासित दिल्ली नगर निगम ने जमीन को भी बेचना शुरू कर दिया है। पिछले 14 सालों में भाजपा ने पहले ही दिल्ली नगर निगम को लूट-लूट कर इस कदर बर्बाद कर दिया है कि आज भाजपा शासित नगर निगम के अधीन आने वाले सभी विभागों में काम करने वाले कर्मचारी पिछले कई-कई महीनों से अपने वेतन के लिए संघर्ष कर रहे हैं। डॉक्टर भूख हड़ताल पर बैठे हैं, अध्यापक विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, सफाई कर्मचारी विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं, निगम के तमाम कर्मचारी अपने-अपने वेतन के लिए विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं। नगर निगम के अधीन आने वाले अस्पताल जिनमें कभी मरीजों का इलाज हुआ करता था, आज उस अस्पताल के डॉक्टर और नर्स उसके बाहर धरने पर बैठे हुए हैं, जिन स्कूलों में कभी बच्चे पढ़ा करते थे, आज उन स्कूलों के अध्यापक अपने वेतन के लिए धरना प्रदर्शन कर रहे हैं और यह सब केवल और केवल भारतीय जनता पार्टी के भ्रष्टाचार के कारण हो रहा है। पिछले 14 सालों में भारतीय जनता पार्टी ने निगम को इस कदर लूटा है कि आज निगम के पास अपने कर्मचारियों का वेतन देने तक के लिए पैसा नहीं बचा है। आज स्थिति यह हो गई है कि भारतीय जनता पार्टी का कोई भी नेता जनता के सवालों का जवाब नहीं दे पा रहा है। उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि कल आदेश गुप्ता जी की सभा में एक अध्यापक ने उनसे एक प्रश्न पूछ लिया, तो भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी को मंच छोड़कर भागना पड़ा। आज भारतीय जनता पार्टी के नेता जहां भी जनता के बीच में जाते हैं, जनता उनका विरोध करती है और उनको कहती है कि आप ने नगर निगम को पूरी तरह से लूट लिया है।

 भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष आदेश गुप्ता जी द्वारा दिए गए बयान का हवाला देते हुए दुर्गेश पाठक ने कहा कि भाजपा के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष ने कुछ दिन पहले इस बात को स्वीकार किया था कि दिल्ली में नगर निगम के भीतर भारतीय जनता पार्टी की स्थिति बेहद खराब है और यदि ऐसी ही स्थिति रही तो तमाम मौजूदा भाजपा पार्षदों का टिकट काटना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि ऐसा प्रतीत होता है, जैसे भाजपा के तमाम निगम पार्षदों और नेताओं को पता चल गया है कि अब उनकी उल्टी गिनती शुरू हो गई है। इसलिए उन्होंने निगम में बची चीजों को भी लूटना शुरू कर दिया है। उदाहरण देते हुए उन्होंने बताया कि उत्तरी दिल्ली नगर निगम ने अब उनके अधीन आने वाली जमीनों को बेचना शुरू कर दिया है। आज उत्तरी दिल्ली नगर निगम द्वारा स्टैंडिंग कमेटी में लाए जा रहे प्रस्ताव का हवाला देते हुए बताया कि इस प्रस्ताव के मुताबिक, उत्तरी नगर निगम ऑर्गेनिक लिमिटेड कमर्शियल कांप्लेक्स नानीवाला बाग, इसी के बगल में नानीवाला बाग कमर्शियल कांप्लेक्स (नजदीक आजादपुर मंडी) और दिल्ली की ऐतिहासिक नॉवल्टी सिनेमा की बिल्डिंग जिस जमीन पर बनी हुई है, इन तीनों जगहों को बेचने का प्रस्ताव लेकर आ रही है। निगम के चुनाव में मात्र डेढ़ साल का समय बचा है और भाजपा के तमाम लोगों को इस बात का अंदाजा हो गया है कि इस बार जनता इनको निगम से निकाल फेंकने वाली है। इसी कारण भारतीय जनता पार्टी के तमाम नेताओं ने निगम में बची कुची चीजें को भी लूटना शुरू कर दिया है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!