Take a fresh look at your lifestyle.

आज का दिन हिंदुस्तान के इतिहास में काली स्याही से लिखा जाएगा-कांग्रेस

नई दिल्ली : आज का दिन हिंदुस्तान के इतिहास में काली स्याही से लिखा जाएगा, हम ये बात इसलिए कह रहे हैं क्योंकि आज जो बिल पास किया गया है और जो कानून लाने जा रहे हैं, वो ना सिर्फ किसान के विरोध में है बल्कि जो फेडरल स्ट्रक्चर है, जो राज्य हैं, कृषि राज्यों का विषय है और trading within the state also, एक कंकरंट (Concurrent) लिस्ट में है, जो राज्य़ का विषय है। तो ये राज्य के खिलाफ है और राज्यों के खिलाफ भी है। ऐसे ही जीएसटी की वजह से राज्य परेशान हैं और उनके जो रेवेन्यू हैं, वो कम करने की कोशिश की गई है। कॉस्टिट्यूशन का, संविधान का जो स्पिरिट है, उस पर इन्होंने प्रहार किया है, क्योंकि जो स्टेट सब्जेक्ट था ट्रेडिंग के नाम पर, सेंट्रल गवर्मेंट ने एक कानून पास करने की कोशिश की है। मैं समझता हूं कि एक तरह से पहले ये एक्वीजिशन एक्ट (Acquisition Act) लाए थे, काफी हंगामा हुआ, किसान भी काफी नाराज थे, वो वापस लेना पड़ा और जो कॉर्पोरेट सेक्टर को जमीन देना चाहते थे, वो जब नहीं कर पाए, तो कई स्टेट में फिर से कानून ले आए और अभी जो किसान की कृषि है, जो खेती है, वो कॉर्पोरेट सेक्टर को देना चाहते हैं और कॉर्पोरेट सेक्टर का रोल इतना रहेगा, इनकी मोनोपॉली इतनी होगी, क्योंकि आखिर तो एपीएमसी जो है, उसको जब खत्म करने की कोशिश हो रही है, एमएसपी को भी धक्का पहुंचेगा, जो मिनिमम सपोर्ट प्राईस की जगह प्रधानमंत्री कह रहे हैं, मैक्सिमम सेलिंग प्राईस देंगे, जो बिल्कुल गलत है, तथ्य विहीन है।

आज का दिन काली स्याही से लिखा जाएगा और ये जो भी बिल पास हुआ है और जो कानून आएगा, वो किसानों के हित के विरोध में है। इसी बहाने ये जो खेती है, कृषि है, कॉर्पोरेट सेक्टर को सौंपना चाहते हैं, एमएसपी नहीं मिलेगा, लोग परेशान होंगे, किसान परेशान होंगे, एसडीएम को जो अधिकार दिए हैं, पता नहीं कहाँ जाना पड़ेगा किसानों को, तो किसानों की जो भी तकलीफ हैं, मुश्किलात हैं, वो बढ़ेंगी। मैं ज्यादा कुछ नहीं कहूंगा, मेरा साथी बाकी मुद्दों पर बात करेंगे। मैं इतना ही कहूंगा कि आज का दिन काली स्याही से लिखा जाएगा, ये किसान विरोधी दिन है, किसानों के खिलाफ है और राज्यों के खिलाफ भी ये कानून है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!