Take a fresh look at your lifestyle.

हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया ने वायु प्रदूषण के आदर्श सुधार प्रतियोगिता के पुरस्कार वितरित किए

ज्ञान मंदिर दिल्ली ने जीता दस हजार रूपए का प्रथम पुरस्कार, बाल भवन इंटरनेशनल स्कूल और माउंट आबू स्कूल को द्वितीय और तृतीय स्थान

नई दिल्ली, 20 दिसम्बर 2019 : देश के अग्रणी स्वयंसेवी संगठन हार्ट केयर फाउंडेशन ऑफ इंडिया द्वारा हाल ही में आयोजित की गई वायु प्रदूषण के आदर्श सुधारों पर आधारित प्रतियोगिता “इन्वायरो हेल्थ” के पुरस्कार वितरित किए गए। प्रतियोगिता का प्रथम पुरस्कार ज्ञान मंदिर स्कूल नारायणा के लक्ष्य, सक्षम, एवं असलम ने जीता, इन्हें दस हजार रूपए का नगद पुरस्कार दिया गया। दूसरे और तीसरे स्थान पर क्रमशः बाल भवन इंटरनेशनल स्कूल द्वारका और माउंट आबू स्कूल रोहिणी रहे। इन्हें सात हजार एवं तीन हजार रूपए की पुरस्कार राशि दी गई। पांच सांत्वना पुरस्कार जो दो हजार रूपए प्रत्येक के थे, वे भारतीय विद्या भवन, डिएवी इंटरनेशनल रोहिणी, मॉडर्न पब्लिक स्कूल शालिमार बाग, ब्लू बेल्स स्कूल और डिएवी स्कूल श्रेष्ठ विहार रहे। प्रतियोगिता में करीब 12 स्कूलों ने भागीदारी की थी, कक्षा नौवी से 12 वी तक के तीन विद्यार्थियों के समूह की टीम ने अपने सैद्धांतिक प्रस्ताव और वर्किंग मॉडल्स प्रस्तुत किए। निर्णायक समूह में एचसीएफआई और सीएमएएओ के अध्यक्ष तथा पद्म श्री अवार्डी डॉ. के के अग्रवाल, एचसीएफआई डायरेक्टर एवं पर्यावरण विभाग दिल्ली सरकार के पूर्व डायरेक्टर डॉ. अनिल कुमार, एचसीएफआई के डायरेक्टर एवं एनएबीएच के पूर्व सीईओ डॉ. के के कालरा शामिल रहे।
प्रतियोगिता का उद्देश्य दिल्ली-एनसीआर में व्याप्त वायु प्रदूषण का कम कीमत में एवं प्रभावी समाधान खोजने के लिए विद्यार्थियों को प्रेरित करना है। उल्लेखनीय है कि एचसीएफआई पिछले 25 सालों से पर्यावरण एवं स्वास्थ्य से जुड़े विषयों पर जनजागरूकता एवं हेल्थ केयर पर प्रिवेन्टिव सुधारों को प्रेरित करने के कार्य करती रही है।इस बारे में बात करते हुए पद्म श्री अवार्डी एवं एचसीएफआई तथा सीएमएएओ के अध्यक्ष डॉ. के के अग्रवाल ने बताया कि मैं प्रतियोगिता के विजेताओं एवं प्रतिभागियों को शुभकामनाएं देता हूं, जिन्होंने बड़ी संख्या में उत्साह के साथ इसमें सहभागिता की। जबकि हम विजेताओं के आईडिया को स्वीकार करने जा रहे हैं, तब भी मैं यह कहना चाहता हूं कि प्रत्येक सहभागी एक विजेता है। जैसा कि कहा जाता है नवाचार का बीज कम उम्र में ही बो दिया जाना चाहिए। यह प्रतियोगिता उसी दिशा में हमारी एक कोशिश है। विद्यार्थियों ने बहुत ही यूनिक आईडिया प्रस्तुत किए हैं। एचसीएफआई में हमारी कोशिश होगी कि हम विद्यार्थियों की यूनिक, सुरक्षित, अर्फोडेबल और उच्च गुणवत्ता के समाधान ढूंढने में उनकी मदद करें। दिल्ली में वायु प्रदूषण एक गंभीर मुद्दा है, इसलिए इसके निदान के लिए यूनिक समाधान की आवश्यकता है।एचसीएफआई आमजन को जागरूक करता है कि वे अच्छे किस्म के फेस मास्क फिल्टर का उपयोग करें। घर पर हेपा फिल्वर वाले एसी एवं एयर प्यूरीफायर का उपयोग करें। वे जो एयर प्यूरीफायर खरीदना अफॉर्ड नहीं कर सकते, उनके लिए संभव है कि वे घर पर ही टेबल फेन में फिल्टर फीट कर फिल्टर तैयार कर लें। एसी या वाटर कूलर के सामने शिफ्ट फिल्टर बोर्ड लगाकर भी कोई व्यक्ति इसे बना सकता है।
वायु प्रदूषण दूर करने के कुछ सुझाव
• अपने चेहरे और टेबल फेन को मास्क पहनाएं, इससे घर का प्रदूषण 80 प्रतिशत तक कम हो जाएगा।
• फिल्टर 300 से 1000 रूपए तक उपलब्ध हैं।
• कोई भी व्यक्ति फिल्टर खरीदकर इसे टेबल फेन को पहना सकते हैं, यह भी अच्छा होगा कि मास्क का उपयोग करें और इसे हेण्ड फेन के सामने फिट कर दें।
• संभव हो तो कम दूरी के लिए पैदल जाएं या सायकल चलाएं। अपने कार्य संयोजित करें और कारपूल या सार्वजनिक परिवहन का उपयोग करना सुनिश्चित करें।
• घर या कार्यस्थल पर केण्डल्स, धूप, और अगरबत्ती ना जलाएं, स्मोकिंग ना करें।
• अधिक से अधिक पेड़ लगाएं, धूल कम करने के लिए मिट्टी वाले क्षैत्रों में घास उगाएं। खुली धूल एवं निर्माण कार्य वाले क्षैत्रों पर नियमित रूप से पानी का छिड़काव करें।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!