Take a fresh look at your lifestyle.

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की मानहानि हो रही है-कांग्रेस

दिल्ली:आप दिनभर हमें सीख देते हैंउपदेश देते हैंबड़ेबड़े जुमले देते हैं कि भारत की पैठ ये हैआन ये हैबान ये हैमान ये हैराष्ट्रवाद ये हैछाती 56 इंच की नहीं 65 इंच की है। लेकिन सच्चाई क्या है  जहां हमें आम जीवन परविद्यार्थी के जीवन पर छूता है तो अमेरिका ऐसे ऐंठकर रहा हैजैसे भारत नाम का कोई देश ही नहीं है। जहाँ हमें आम आदमी के लिए तकलीफ होती हैदर्द होता हैवेदना होती है। वहाँ कुवैत हमारे श्रमिकों के विषय में एक अपने आप निर्णय लेता हैजिसमें कोई कंसल्टेशन नहीं हैकोई आपसी विचारविमर्श नहीं है। हमारी पैठ कहाँ हैंहमें पता नहीं है। अमेरिका केH-1B वीज़ा में चार में से तीन भारतीय इन्वोल्वड हैंवो भी एक तरफा निर्णय लेलेते हैं। हमारी भारत की डिप्लोमेटिक पैठ कहाँ हैंहमारी आर्थिक शक्ति कहाँहैंहमारे सुपर पॉवर के देश की छवि कहाँ हैये प्रश्न हम आपके जरिए उठानाचाहते हैं। मैंने इसलिए कहा आपसे ना पूर्वना पश्चिम मोदी जी दोनों दिशाओं मेंहमारी पैठ नहीं है। एक तरफ अमेरिका सुनने को तैयार नहीं हैदूसरी तरफ कुवैतसुनने को तैयार नहीं हैसबसे बड़ा और सबसे छोटा देश।

अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की मानहानि हो रही है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर आप चुनचुन कर भारत के उन वर्गों परदुष्प्रभाव कर रहे हैंप्रहार कर रहे हैंआघात कर रहे हैंजो अपने श्रम सेअपनेहुनर से भारत का नाम रोशन करते हैं और कई दशकों से करते आए हैं।डोमेस्टिकलीलोकली आज रोजगार पर लात एक के बाद एक पड़ रही है। उसकेदौरान ये हो रहा है कि आपके देश में जो हाई वेल्यूवाईट कॉलर अर्नर हैंजो ब्लूकॉलर अर्नर हैंदोनों पर अत्यंत दुष्प्रभाव हो रहा है। इन सबके बीच में आपकेपास कोई हल नहीं है। आपने कोई नीति नहीं बनाई। प्रधानमंत्री जी सब काम कोछोड़कर अमेरिका और कुवैत इसके लिए जाना चाहिए। आपने एक भी कोई ठोसचीज क्या कीजिससे कि ये नीतियां वापस ली जाएंकरोड़ोंलाखों भारतीयएक आवाज में ये प्रश्न का उत्तर मांग रहे हैंलेकिन जवाब की जगह सन्नाटा मिलरहा है।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!