Take a fresh look at your lifestyle.

पोर्टिया मेडिकल पार्टनर दिल्ली सरकार के साथ मिलकर कोविड ​​-19 पॉजिटिव मरीजों को होम आइसोलेशन सेवाएं देगी

यह अनोखा टाई-अप, अस्पताल के बुनियादी ढांचे पर पड़ रहे बोझ को कम करने के लिए एक सहारे के रूप में टेक्नोलॉजी का उपयोग करते हुए कोविड -19 रोगियों की रिमोट मॉनिटरिंग करेगा ।

नई दिल्ली,  अपनी पहली तरह की इस पार्टनरशिप में, पोर्टिया मेडिकल, जो भारत की सबसे बड़ी बाहरी अस्पताल स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने वाली कंपनी है, उसने कोरोना वायरस पॉजीटिव रोगियों को घर पर ही आइसोलेशन सेवाएं देने के लिए दिल्ली सरकार के साथ टाई-अप किया है । यह कंपनी की ओर से महामारी के मद्देनजर की गई कईं एक और पहल है, जो स्वास्थ्य देखभाल के बोझ को कम करने में मदद करेगी और उन लोगों को बेड और आईसीयू प्रदान करेगी, जिनको इसकी सबसे ज्यादा जरूरत है ।यह समझते हुए कि कोविड ​​-19 पॉजिटिव रोगियों में से 80 प्रतिशत से अधिक रोगियों में लक्षण नहीं हैं या हल्के लक्षण हैं और उन्हें अस्पताल में देखभाल की आवश्यकता नहीं है, ऐसे में पोर्टिया मेडिकल होम आइसोलेशन के लिए रोगियों की स्क्रीनिंग करने में राज्य की मदद कर रहा है । इन मरीज़ों की एक बड़ी ट्रैकिंग प्रणाली के मदद से रिमोटली यानि दूर से ही निगरानी की जाती है जिसमें 17 दिनों तक पूरी तरह आइसोलेशन में रखा जाता है और इसके लिए पोर्टिया मेडिकल सरकारी डॉक्टर और विशेषज्ञ शामिल करता हैं ।

पोर्टिया किसी भी तरह की स्वास्थ्य जटिलताओं को रोकने के लिए अपनी रिपोर्ट के तौर पर रेगुलर रिपोर्ट प्रस्तुत करता है । अगर ज़रुरत पड़े, तो कंपनी अपने टेक्नोलॉजी प्लेटफॉर्म का इस्तेमाल करके दिल्ली सरकार के डॉक्टरों के साथ एक टेली कंसल्टेशन की व्यवस्था करती है । ऐसे मामलों में जहां अस्पताल में भर्ती होने की ज़रुरत हो सकती है, पोर्टिया इसकी गंभीरता को देखते हुए कार्रवाई के लिए उपयुक्त सरकारी एजेंसी को सूचित करता है । महत्वपूर्ण आइसोलेशन का समय खत्म होने के बाद, रोगी की स्वास्थ्य स्थिति को देखते हुए उन्हें घर पर आइसोलेशन होने के लिए छुट्टी दे दी जाती है । इस प्रकार इस पहल का उद्देश्य अस्पतालों और स्वास्थ्य सेवा संसाधनों पर पड़ रहे बोझ को कम करना है ।इस बारे में बात करते हुए, मीना गणेश, एमडी और सीईओ, पोर्टिया मेडिकल, ने कहा, “हम कोविड-19 के खिलाफ जंग में दिल्ली सरकार के साथ हाथ मिला कर खुश हैं । पोर्टिया में, हम 7 से अधिक वर्षों से ग्राहकों को शुरु से अंत तक होम हेल्थकेयर सेवाएं देने के लिए टेक्नोलॉजी का लाभ उठा रहे हैं और हमने उम्मीद के हिसाब से अपनी क्षमता और बुनियादी ढाँचे को विकसित किया है । यह पार्टनरशिप हमारे लिए हमारी विशेषताओं के इस्तेमाल करने और सरकार के एक सहारे के रूप में टेक्नोलॉजी के साथ इस संकट को मैनेज करने में मदद करने का एक अवसर है और जबकि पूरी प्रक्रिया को रिमोट मॉनिटरिंग के ज़रिए मैनेज किया जा रहा है, इसलिए यह फ्रंटलाइन हेल्थकेयर लोगों के लिए इंन्फेक्शन के जोखिम को भी काफी कम करेगा । हमारा मानना ​​है कि यह हमारी नैशनल हेल्थ स्ट्रेटिजी के सबसे ज़रुरी तत्वों के रूप में होम हेल्थकेयर और टेलीमेडिसिन को एक करने का सही समय है । ”

इस पहल के तहत, अब तक लगभग 8 प्रतिशत रोगियों को घर से अस्पताल ले जाया गया है । लगभग 8 हजार 500 कोविड -19 मरीजों को घर में आइसोलेट किया गया है और 250 लोगों को अस्पतालों में ट्रांसफर किया गया है । घर पर आइसोलेट करने के तहत रोगियों के लिए 4 हजार से अधिक डॉक्टर टेली कंसल्टेसन का प्रबंध हैं और 2900 लोगों को ठीक होने के बाद आइसोलेशन से छुट्टी दे दी गई । मरीजों को सेवा के लिए कोई शुल्क नहीं देना पड़ता है ।

पोर्टिया की पहल ऐसे समय में हुई है जब स्वास्थ्य सेवा के लिए एक एकजुटता,  सार्वजनिक-निजी भागीदारी के नज़रिए की ज़रुरत है । मामलों की संख्या को देखते हुए, इस माहौल और इंन्फेक्शन को कंट्रोल करने में सरकारी और निजी, दोनों क्षेत्रों की खूबियों का लाभ उठाने की ज़रुरत है । पोर्टिया मेडिकल को आईएफसी (वर्ल्ड बैंक ग्रुप), एक्सेल पार्टनर्स, क्वालकॉम, एमईएमजी सीडीसी, वेंचुरी, सैबरे जैसे प्रमुख निवेशकों का समर्थन है और यह ग्रोथस्टोरी द्वारा प्रमोट किया जा रहा है ।

रुचिरा शुक्ला, साउथ एशिया रिजनल हैड फॉर डिसरपटिव टेक्नोलॉजी इनवेस्टमेंट और वी.सी फंड, आईएफसी ने कहा कि – होम आइसोलेशन मैनेजमेंट रोगियों और उनके परिवारों के लिए एक महत्वपूर्ण सेवा है । हमें राष्ट्रीय स्वास्थ्य के लिए हो रही इन कोशिशों में पोर्टिया के योगदान को देखकर प्रसन्नता हुई है ” ।

पोर्टिया मेडिकल कोविड-19 संकट के दौरान विभिन्न पहल कर रहा है । कंपनी ने महामारी में लोगों के सवालों का जवाब देने के लिए गोवा सरकार के साथ मिलकर एक चैटबॉट भी लॉन्च किया । उन्होंने लोगों को घर पर ही कोरोना वायरस की जांच करने और 14 दिनों में उनके स्वास्थ्य की निगरानी करने में मदद करने के लिए अपनी होम क्वारंटिन सेवाएं भी शुरू की हैं ।

भारत के सबसे बड़े होम हेल्थकेयर प्लेयर के रूप में, पोर्टिया देश के विभिन्न हिस्सों में लगातार उच्च गुणवत्ता वाली देखभाल सेवाएं प्रदान कर रहा है । कंपनी ने 1.5 मिलियन से अधिक रोगियों के सामने उनकी पुरानी बीमारियों, बुजुर्गों की देखभाल, सर्जरी के बाद की देखभाल, डायबिटीज़ नियंत्रण, घर पर कीमोथेरेपी और अन्य बीमारियों या चोटों के लिए लंबे समय तक देखभाल की आवश्यकता वाली सेवाओं की व्यापक पेशकश की है

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:3,38,751
Certified by Facebook:

Touch Me
X
error: Content is protected !!