Take a fresh look at your lifestyle.

Ranosys टेक्नोलॉजीज़ बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी के साथ पार्टनरशिप , भारतीय छात्रों के लिए आउटसिस्टम तकनीक

नई दिल्ली, बीकानेर , टेक ग्रेजुएट्स के लिए प्रोफेशनल लर्निंग की तरफ ध्यान देते हुए Ranosys टेक्नोलॉजीज़ ने बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी (BTU) के साथ आउटसिस्टम एजुकेशन प्रोटोकॉल साइन किया है। इस पहल के तहत, Ranosys BTU के छात्रों को आउटसिस्टम में कौशल हासिल करने में मदद करेगा जोकि दुनिया में प्रमुख लो-कोड ऐप डेवेलपमेंट प्लेटफार्म्स में से एक है।
OutSystems दुनिया भर में मोबाइल और वेब ऐप बनाने के लिए एक प्रमुख प्लेटफ़ॉर्म है। पिछले कई वर्षों में कंपनी ने कई बड़ी ऑर्गनाइज़ेन्स को ऐसे समाधान पेश करके इंटरप्राइज़-ग्रेड ऐप बनाने में मदद की है जिन्हें मौजूदा व्यापार प्रणालियों के साथ आसानी से एकीकृत किया जा सकता है।
विश्व स्तर पर कुशल आउटसिस्टम्स प्रोफेशनल की बड़ी मांग है। गार्टनर की हालिया रिपोर्ट के अनुसार, 2024 तक लो-कोड डेवेलपर्स प्लेटफॉर्म दुनिया के सभी उद्यमों में 65 प्रतिशत से ज्यादा को मदद करेगा। इस प्रोटोकॉल के माध्यम से BTU को भारत का पहला विश्वविद्यालय होने का गौरव प्राप्त होगा जिसके पास इस तरह का अनूठा कार्यक्रम होगा।
आउटसिस्टम शिक्षा प्रोटोकॉल बीटीयू छात्रों को एक एकीकृत पाठ्यक्रम, पेशेवर मार्गदर्शन और प्रशिक्षण सामग्री तक पहुंच बनाने में मदद करेगा। इसके अतिरिक्त इससे आउटसिस्टम के ग्राहकों और भागीदारों के साथ संबद्धता भी प्राप्त करेंगे जो वैश्विक स्तर पर उनके लिए आकर्षक रोजगार के अवसर पैदा करने में मदद करेंगे।
इस साझीदारी के बारे में श्री एच डी चरन, वाइस चांसलर, बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटीज ने कहा कि, ““इस पार्टिनरशिप को सच करना एक महान तालमेल का प्रतीक है जो निकट भविष्य में रानोसिस और बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी दोनों के मूल्यों और पारस्परिक लाभ को बढ़ाएगा। यह साझेदारी छात्रों को कक्षा में सर्वश्रेष्ठ प्रणाली सीखने के लिए सशक्त बनाएगी और उन्हें महत्वपूर्ण योगदान देने और कुशल कर्मचारियों के रूप में चुनौतियों का सामना करने के लिए तैयार करेगी।”
आउटसिस्टम का लक्ष्य 10 हज़ार नए छात्रों को प्रशिक्षित करना है जो 2020 में पेशेवर डेवलपर समुदाय में शामिल होने के लिए तैयार हैं और सभी देश भारत को इस दृष्टि से पूरी दूनिया का वैश्विक केंद्र मानते है। आउटसिस्टम में वाइस प्रेसिडेट गोनकेल गोइओल ने कहा, “आउटसिस्टम्स एजुकेशन प्रोग्राम एक रणनीतिक,बहु-वर्षीय पहल है, जहां आउटसिस्टम्स पार्टनर्स और ग्राहकों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम करने में मदद करते हैं ताकि विश्वविद्यालयों और स्कूलों को हमारी तकनीक मुफ्त पहुंच प्रदान की जा सके। वर्तमान में आउटसिस्टम्स विश्व स्तर पर 100 से अधिक विश्वविद्यालयों के साथ काम करता है जिसमें जॉर्जिया विश्वविद्यालय और कैलिफोर्निया स्टेट यूनिवर्सिटी शामिल हैं।”
उन्होंने कहा कि “हम विशेष रूप से भारत में अपना विस्तार करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं जोकि हमारे निरंतर विकास के लिए एक प्रमुख देश है। हमें बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी में छात्रों को लो-कोड प्रशिक्षण प्रदान करने और कई अन्य शैक्षणिक संस्थानों के लिए इस साझेदारी को आगे बढ़ाने की उम्मीद करने के लिए रानोसिस के साथ भागीदारी करने पर गर्व है”
रामेश्वर व्यास, संस्थापक और सीईओ, रानोसिस के मुताबिक, “शिक्षा एक प्रमुख क्षेत्र है जो नई तकनीक को अपनाने में हमेशा सक्षम है। हम छात्रों को उच्च-गुणवत्ता वाले आउटसिस्टम समाधान देने के लिए बीकानेर टेक्निकल यूनिवर्सिटी के साथ साझेदारी करने पर बहुत प्रगतिशील सोच रखते हैं। यह साझेदारी रानोसिस की ओर से एक पहल है ताकि योग्य आउटसिस्टम डेवेलपर्स को तैयार किया जा सके जो वर्तमान और भविष्य के दुनिया भर मे काम करने वाले कार्यबल में बेहतर प्रतिस्पर्धा कर सकें और वैश्विक उद्यमों की बढ़ती मांगों का जवाब दे सकें।”
Inês Barros, ग्लोबल लीड, एजुकेशन प्रोग्राम, आउटसिस्टम्स के मुताबिक, “रानोसिस दृढ़ता से मानता है कि लो-कोड एप्लिकेशन डेवेलपमेंट का भविष्य है और ये जल्द ही मुख्यधारा बन जाएगा। छात्रों को सही ज्ञान, सही पढ़ने की सामग्री और मार्गदर्शन प्रदान करने से उनके लिए करियर के अभूतपूर्व अवसर खुलेंगे। ” रानोसिस भारत में विश्वविद्यालयों और छात्रों को लो-कोड प्रौद्योगिकियों और विशेष रूप से आउटसिस्टमस के बारे में जानकारी देने मे मदद करने में काम कर रहा है जोकि विशेष रूप से उल्लेखनीय है,” ।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!