Take a fresh look at your lifestyle.

हमें अपनी प्रतिभा को निखारना पड़ता है तभी सफलता मिलती है : डॉ. अग्रवाल

नई दिल्ली। आई सी ए द्वारा दिल्ली एन सी आर की जोनल प्रतियोगिता का आयोजन अपने पीरागढ़ी सेंटर में किया। इस अवसर पर प्रसिद्ध मैथेमैटिशियन एवं लेखक डॉ. आर.एस अग्रवाल एवं दीपक अग्रवाल थे। इस अवसर पर संस्थान के चेयरमैन विनोद गुप्ता ने पुष्पगुच्छ देकर डॉ.आर एस अग्रवाल एवं दीपक अग्रवाल का स्वागत किया। इस मौके पर आईसीए पीरागढ़ी सेंटर के निदेशक वरुण गुप्ता ने बताया कि आज की प्रतियोगिता में “टेली का बॉस” एवं “एक्सल का का डॉन” नामक प्रतियोगिता के विजेताओं को मुख्यअतिथि डॉ. आर एस अग्रवाल एवं दीपक अग्रवाल, आई सी ए के नार्थ दिल्ली महाप्रबंधक इंदरपाल सिंह, आई सी ए पीरागढ़ी सेंटर के चेयरमैन विनोद गुप्ता, निदेशक तरुण गुप्ता ने विजेता छात्र छात्राओं को प्रशस्ति पत्र एवं स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। निदेशक वरुण गुप्ता ने बताया कि पश्चिमी दिल्ली में हमारा पीरागढ़ी सेंटर अकांउट से सम्बंधित विभिन्न कोर्स संचालित करता है। 12 से स्नातक की पढ़ाई कर रहे हमारे यहाँ पढ़ने वाले छात्र छात्राओं को 100 प्रतिशत अकाउंटेंट की नौकरी विभिन्न कंपनियों, मल्टीनेशनल्स में लगवायी जाती है। हमारा क्वालिफाइड स्टाफ बहुत स्पोर्टिव है जो बच्चों की हर दुविधा का निवारण करके उन्हें अकाउंट्स में पारंगत बनता है। पूरी तरह वातानुकूलित कैम्पस और सबसे लेटस्ट सॉफ्टवेयर एवं कोर्स मैटेरियल हमारे सबसे अच्छे संस्थान होने का प्रमाण हैं। विजेताओं को को पुरस्कार वितरण के बाद मुख्यअतिथि डॉ.आर एस अग्रवाल ने कहा कि जीवन में सफल होने के लिए सतत मेहनत,प्रयास एवं प्रैक्टिकल करने की जरुरत होती है। उन्होंने कहा कि प्रतिभा हर किसी के अंदर छुपी होती है। हमें अपने अंदर छुपी प्रतिभा को निखारना पड़ता है तभी सफलता मिलती है। आज इस प्रतियोगिता का आयोजन सराहनीय है। इससे छात्रों का मनोबल ऊंचा होगा और वे भविष्य में ओर बेहतर करने के लिये प्रेरित होंगे। उनमें नये ऊर्जा का संचार होगा और वे उत्साहित मन से इससे बड़े मंच पर सम्मान प्राप्त करने का प्रयास करेंगे। उन्होंने कहा की कोई भी शिक्षा एवं हुनर सीखने की कोई उम्र नहीं होती। हमें ही यह तय करना होता है कि आखिर कौन सी चीज हमें प्रेरित करती है। वैसी चीजें जिससे आप प्रेरित हैं। तो आपकी प्रेरणा को कैसे पंख मिले इसके लिये हमें गुरु की तलाश करनी होती है। गुरु के बिना ज्ञान प्राप्त करना कठिन है। सच्चे गुरु ही हमारी प्रेरणा को निखार कर हमें नये आयाम तक पहुंचाने में मददगार होते हैं। इस अवसर पर मास्टर ट्रेनर विशाल,क्वालिटी अधिकारी अरकोप्रभा चटर्जी,वरिष्ठ प्रबंधक (विक्रय) अनुज भाटिया समेत शिक्षा जगत की जानी मानी हस्तियां उपस्थित थी।

Leave A Reply

Your email address will not be published.

Visitor Reach:1032,824
Certified by Facebook:

X
error: Content is protected !!